शिकायत Shikayat Lyrics in Hindi – Gangubai Kathiawadi

Shikayat Lyrics in Hindi from movie Gangubai Kathiawadi is brand new Hindi song sung by Archana Gore. Shikayat song lyrics are penned down by A M Turaz and music is given by Sanjay Leela Bhansali. This music video and this song is featuring Alia Bhatt and while video has been also directed by Sanjay Leela Bhansali.

शिकायत Shikayat Lyrics in Hindi – Gangubai Kathiawadi

Song Credit :-

Song TitleShikayat.
MovieGangubai Kathiawadi.
SingerArchana Gore.
LyricsA M Turaz.
MusicSanjay Leela Bhansali.
FeaturingAlia Bhatt.
DirectorSanjay Leela Bhansali.
Music LabelSaregama Music.

Shikayat Lyrics in Hindi.

किसी की याद में
शामें गुजारने के लिए
कलेजा चाहिए खुद को
मारने के लिए

के घाट मौत के
हर दिन उतरना पड़ता है
ये इश्क़ दिल में मेरी जान
उतारने के लिए

सुना है के उनको शिकायत बहुत है
सुना है के उनको शिकायत बहुत है
तो फिर उनको हमसे मोहब्बत बहुत है
सुना है के वो तोड़ देते है दिल तो

हमें टूटने की भी आदत बहुत है
सुना है के उनको शिकायत बहुत है

नज़र भर के वो देखते भी नहीं है
हमारे लिए सोचते भी नहीं है
नहीं है नहीं सोचते भी नहीं है

गुज़रते है हम रोज़ पहलू से उनके
मगर वो हमें रोकते भी नहीं है
हाँ रोकते भी नहीं है
हाँ हाँ रोकते भी नहीं है

सुना है के नफरत वो करते है हमसे
हमे उनकी नफरत से राहत बहुत है
सुना है के उनको शिकायत बहुत है
सुना है के उनको शिकायत बहुत है

शहर चाहे जीवन का वीरान कर दो
मगर देख कर हमको हैरान कर दो
भरम आज भी है वफाओं का हमको
इजाज़त है जाना खताओं की तुमको

खता पर भी उनकी खफा हम नहीं है
किसी हाल में भी जुदा हम नहीं है
नहीं है नहीं हाँ जुदा हम नहीं है

वो इलज़ाम जितने भी चाहे लगा लें
वफादार है बेवफा हम नहीं है
हाँ हाँ बेवफा हम नहीं है
हाँ हाँ बेवफा हम नहीं है

सुना है के वो भूल जाते है मिल कर
हमें उनकी यादों की दौलत बहुत है
सुना है के उनको शिकायत बहुत है

सुना है सुना है शिकायत बहुत है
हाँ जी हाँ जी सुना है मोहब्बत बहुत है
हाँ हाँ उनकी नफरत से राहत बहुत है
हमें टूटने की भी आदत बहुत है

शिकायत मोहब्बत हाँ राहत बहुत है
हमें उनकी यादों की दौलत बहुत है
सुना है सुना है हां हां हमने सुना है
सुना सुना सुना है

सुना है के उनको शिकायत बहुत है

Shikayat Lyrics in English.

Kisi Ki Yaad Mein
Shaamein Guzaarne Ke Liye
Kaleja Chahiye Khud Ko
Maarne Ke Liye

Ke Ghaat Maut Ke
Har Din Utarna Padta Hai
Yeh Ishq Dil Mein Meri Jaan
Utaarne Ke Liye

Suna Hai Ke Unko Shikayat Bahut Hai
Suna Hai Ke Unko Shikayat Bahut Hai
Toh Phir Unko Humse Mohabbat Bahut Hai
Suna Hai Ke Woh Tod Dete Hai Dil Toh

Humein Tootne Ki Bhi Aadat Bahut Hai
Suna Hai Ke Unko Shikayat Bahut Hai

Nazar Bharke Woh Dekhte Bhi Nahi Hai
Humare Liye Sochte Bhi Nahi Hai
Nahi Hai Nahi Sochte Bhi Nahi Hai

Guzarte Hain Hum Roz Pehlu Se Unke
Magar Woh Humein Rokte Bhi Nahi Hai
Haan Rokte Bhi Nahi Hai
Haan Haan Rokte Bhi Nahi Hai

Suna Hai Ke Nafrat Woh Karte Hai Humse
Humein Unki Nafrat Se Raahat Bahut Hai
Suna Hai Ke Unko Shikayat Bahut Hai
Suna Hai Ke Unko Shikayat Bahut Hai

Shehar Chahe Jeewan Ka Veeran Kar Do
Magar Dekh Kar Humko Hairaan Kar Do
Bharam Aaj Bhi Hai Wafaon Ka Humko
Ijaazat Hai Jaana Khataon Ki Tumko

Khata Par Bhi Unki Khafa Hum Nahi Hai
Kisi Haal Mein Bhi Juda Hum Nahi Hai
Nahi Hai Nahi Haan Juda Hum Nahi Hai

Woh Ilzaam Jitne Bhi Chahe Laga Le
Wafadaar Hain Bewafa Hum Nahi Hai
Haan Haan Bewafa Hum Nahi Hai
Haan Haan Bewafa Hum Nahi Hai

Suna Hai Ke Woh Bhool Jaate Hai Mil Kar
Humein Unki Yaadon Ki Daulat Bahut Hai
Suna Hai Ke Unko Shikaayat Bahut Hai

Suna Hai Suna Hai Shikayat Bahut Hai
Haan Ji Haan Ji Suna Hai Mohabbat Bahut Hai
Haan Haan Unki Nafrat Se Raahat Bahut Hai
Humein Tootne Ki Bhi Aadat Bahut Hai

Shikaayat Mohabbat Haan Raahat Bahut Hai
Humein Unki Yaadon Ki Daulat Bahut Hai
Suna Hai Suna Haan Haan Humne Suna Hai
Suna Suna Suna Hai

Suna Hai Ke Unko Shikaayat Bahut Hai

Leave a Comment

%d bloggers like this: